theAsianparent Logo

केमिकल वाले रंगों को करे बाय-बाय…. घर पर बनाएं होली के रंग

बाजार में मिलने वाले इन रंगों से आपको एलर्जी के साथ-साथ त्वचा के खतरनाक रोग भी हो सकते है। इतना ही नहीं, इनमें मिलाए जाने वाले केमिकल्स की वजह से अस्थमा जैसी बीमारियों के साथ-साथ आखों को भी नुकसान पहुंच सकता है।

होली का त्योहार खुद में रंगों से पहचाना जाता है और  सोचिये कि अगर होली को रंगों से दूर रखा जाए तो कैसा होगा? कैसी रहेगी आपकी होली रंगों के बिना। जी हां...यकीनन एकदम फीकी और नीरस होगी...क्योंकि अब बाज़ारों में रंगों की जगह कैमिकल्स मिलने लगे हैं जो कि आपकी त्वचा के लिए बेहद हानिकारक हैं।

बाजार में मिलने वाले इन रंगों से आपको एलर्जी के साथ-साथ त्वचा के खतरनाक रोग भी हो सकते है। इतना ही नहीं, इनमें मिलाए जाने वाले केमिकल्स की वजह से अस्थमा जैसी बीमारियों के साथ-साथ आखों को भी नुकसान पहुंच सकता है

इसलिये लोग अब इन केमिकल्स के बारे में जागरूक हुए हैं और इन रंगों से परहेज़ करने का मन बानाने लगे हैंलेकिन हम आपको होली पर रंगों से दूर रहने के लिए ऐसे उपाये सुझाएंगे जिनसे आपकी होली बेरंग बिल्कुल नहीं होगी और उसी के लिए आज हम आपको बताएंगें कैसे घर पर ही बना सकते हैं ये हर्बल रंग और रख सकते हैं अपनी त्वचा को और खुद को पूरी तरह से स्वस्थ..

लाल रंग

खूबसूरत लाल रंग बनाने के लिए आप अनार के छिल्कों को पानी में उबाल कर ठंडा कर लें और फिर इसे इस्तेमाल कर के इस रंग का मज़ा ले सकते हैंसाथ ही लाल चंदन से भी आप लाल रंग बना सकते हैं।

जिसके लिए आप 2 चम्मच लाल चंदन को पानी में उबाल कर ठंडा कर लें और फिर उसे 20 लीटर पानी में मिला लें। होली के लिए आपका लाल रंग तैयार है।

पीला रंग

पीले रंग के लिए आप 2 चम्मच हल्दी पाउडर में दो गुना बेसन मिला लें और उसे पीले रंग की जगह इस्तेमाल करेंये आपकी त्वचा के लिए काफी अच्छे उबटन का काम करेगा। साथ ही आप गेंदे के फूलों को सुखा कर उन्हे पीस कर पाउडर बनाकर भी पीले रंग के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं ये आपको एक मनमोहक खुशबू भी देगा

हरा रंग

हरा रंग बनाने के लिए आप हरी पत्तियां जैसे पुदीना, धनिया और पालक लें। उन्हें पीस कर उनका एक गाढ़ा पेस्ट बना लें और जब भी रंग का इस्तेमाल करना हो उसे अपनी जरूरत के हिसाब से पानी में मिलाएंइतना ही नहीं, हरे रंग के लिये आप मेहंदी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन ध्यान रहे कि मेहंदी को केवल सूखे रंग के तौर पर ही इस्तेमाल करें क्योंकि सभी जानते हैं कि मेहंदी गीली होने पर रंग देती है जिससे उसके चहरे पर रंग आने का अंदेशा रहता है

गुलाबी रंग

गुलाबी रंग बनाने के लिए आप चुकंदर का इस्तेमाल करें। चुकंदर के टुकड़ों को उबाल लें और छान कर पानी में मिलाएंसाथ ही प्याज़ के छिल्कों को पानी में तब तक उबालें जब तक गुलाबी रंग आजाए

उसके बाद पानी ठंडा होने पर उसे रंग की तरह इस्तेमाल करेंइसके साथ ही आप गुड़हल के फूलों को पीस कर पानी में मिला लें और गुलाबी रंग का लुत्फ उठाएं।

ऐसे बनाएं सूखा रंग

ये तो बात थी गीले रंगों को बनाने की..लेकिन अगर आप गुलाल या सूखे रंगों के साथ होली खेलना चाहते हैं तो आप उन्हें भी घर पर बना सकते हैं। इसके लिए आप चावल के आटे का इस्तेमाल करें और उसमें अपनी पसंद के मुताबिक फूड कलर मिला लें और एक गाढ़ा पेस्ट बना कर सुखा लें और फिर दोबारा से पीसकर महीन पाउडर बना लें और हर्बल और सुरक्षित गुलाल के साथ होली को रंगीन बनाएं