इस डरावनी घटना के बाद सोहा अली खान को लगा कहीं अभी ना हो जाए डिलिवरी!

lead image

सोहा अली खान ने शेयर किया है कि "एक दिन सुबह बार-बार खांसी आने के कारण गर्भाशय पर बहुत अधिक दबाब पर रहा था। मुझे इतनी खांसी आ रही थी कि लग रहा था कि अभी बेबी को जन्म दे दूंगी।”

सोहा अली खान अपनी डिलीवरी से बस कुछ ही कदम दूर हैं और उन्होंने अब आखिरी तिमाही में हो रही स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के बारे में खुलकर बात किया है। मॉर्निंग सिकनेस से लेकर शरीर में सूजन, अपच और नींद ना आने की समस्या के बारे में भी खुलकर बात की। सोहा अली खान भी किसी अन्य प्रेग्नेंट महिला की तरह इस दौर से गुजर चुकी हैं।

लेकिन उन्हें सबसे अधिक समस्या तीसरे तिमाही से शुरू हुई जब उन्हें ऐसे दौर से गुजरना पड़ा कि उन्हें लगा कि वो अभी बेबी डिलिवरी कर देंगी।

जी हां आपने बिल्कुल सही पढ़ा।

“मुझे तीन सप्ताह तक मॉर्निंग सिकनेस रहा था”

38 वर्षीय सोहा अली खान ने अपने प्रेग्नेंसी के सफर के बारे में एक दैनिक अखबार में लिखते हुए कहा कि "मेरे लिए पहली तिमाही एक्साइटमेंट से भरपूर थी - मैं तीन महीनों तक मॉर्निंग सिकनेस के कारण परेशान रही थी जो किसी जहर से कम नहीं है क्योंकि ये कभी भी शुरू हो जाता है और काफी समस्या होती है लेकिन इसके और मेरे जबड़ो पर फोड़े-फुंसियों के अलावा बाकी सब ठीक था।"

 

A post shared by Soha (@sakpataudi) on

“मेरी दूसरी तिमाही शानदार थी”

उन्होंने कहा कि जब उनकी शुरुआती मॉर्निंग सिकनेस की समस्या दूर हुई, दूसरा तिमाही उनके लिए शानदार साबित है हुआ। उन्होंने कहा कि "दूसरी तिमाही मेरे लिए काफी अच्छी साबित हुई और मैंने कई खास पल भी देखे जैसे बेबी का पहली बार किक महसूस करना, बंप का बढ़ना और पहली बार मैरनिटी कपड़ों की शॉपिंग करना।"

"मैंने उंगलियों में सूजन के बारे में बताया"

हालांकि दूसरी तिमाही के ठीक विपरीत तीसरी तिमाही उनके लिए थोड़ी डरावनी रही और इसके कई कारण भी हैं। उन्होंने कहा कि "इसकी शुरूआत उंगलियों और इसके ज्वाइंट के पास सूजन से हुईं। मैने जब यह बात OBGYN से बताई तो वो बिना घबराए या परेशानी के बोला "ये सिर्फ उम्र की वजह से है।" उन्हें जल्द ही एहसास हो गया था तीसरी तिमाही की राह आसान नहीं है।

 

A post shared by Soha (@sakpataudi) on

सोहा के लिए ये रही सबसे बड़ी समस्या

उन्होंने आगे कहा कि "उसी समय मेरी अपच और अनिद्रा बढ़ने लगी। मैं अपने मैटरनिटी कपड़ों में नहीं फिट आ पाती थी और बहुत सोच समझकर कपड़े चुनने पड़ते थे।"

लेकिन ये सिर्फ अनिद्रा या अपच नहीं था जिसकी वजह से वो इतनी असहज थीं बल्कि बाकी माओं की तरह वो इन सब के अलावा और भी समस्या से गुजर रही हैं।

"कुछ दिनों पहले सबसे अधिक चिंता करने वाली घटना सोहा के साथ नौवें महीने में छाती में जलन की हुई। सोहा ने कहा कि "मुझे बताया गया कि बेबी जैसे जैसे बढ़ रहा है वैसे-वैसे मांसपेशियों पर दबाब बढ़ रहा है इसलिए भोजन आसानी से नहीं पच पाता और एसिड बनते हैं।" इसके अलावा उन्होंने एक और घटना का जिक्र किया जिसमें उन्हें ऐसा लगा कि वो खांसी के कारण बेबी को अभी जन्म दे देंगी!

सोहा अली खान ने शेयर किया कि "एक दिन सुबह में बार-बार खांसी आने के कारण गर्भाशय पर बहुत अधिक दबाब पर रहा था। मुझे इतनी खांसी आ रही थी कि लग रहा था कि अभी बेबी को जन्म दे दूंगी। मैंने तुरंत डॉक्टर को बुलाया। वो हमेशा की तरह शांत था और मुझे विश्वास दिलाकर चला गया कि खांसी में दबाब पड़ना और बेबी को पुश करने में जमीन आसमान का अंतर है।"

 

A post shared by Soha (@sakpataudi) on

लेकिन अगर ईमानदारी से बात करें तो जो पहली बार मां बनती हैं उन्हें किसी भी चीज के बारे में नहीं पता होता है और कई बार जरूरत से अधिक चिंता होने लगती है।

इसलिए यहां हम आपको हेल्दी प्रेग्नेंसी के सफल मंत्र बता रहे हैं वो भी खासकर अगर आप 35 साल से अधिक उम्र की हैं तो।

  • प्रेग्नेंसी के बाद हमेशा डॉक्टर के पास जाती रहें। अपने और बेबी के हेल्थ का चेकअप हमेशा करवाती रहें। हमेशा अपने शरीर को मॉनिटर करती रहें। अगर कुछ अलग लगे तो डॉक्टर से संपर्क करें इससे आपको शांति मिलेगी।
  • जितनी जल्दी हो सके हेल्दी डाइट लेना शुरू करें और अपने डाइट में सुपर फूड शामिल करें जिसमें आयरन, कैल्शियम, फोलेट, फाइबर के साथ सभी जरूर पोषक तत्व हो।
  • वजन बढ़ाएं लेकिन ये सोचकर किसी तरह की जल्दबाजी ना करें कि आप दो लोगों का खाना खा रही हैं।
  • हेल्दी, फिट,एनर्जिटिक रहने के लिए हमेशा शारीरिक रूप से एक्टिव रहें।
  • प्रेग्नेंसी के दौरान शराब,तंबाकू, ड्रग्स आदी का सेवन ना करें।
  • समय के साथ सही दवा और सप्लिमेंट लें ताकि आपके स्वास्थ्य पर सकारात्मक असर पड़े।
  • क्रोमोजोमल असामन्यता के बारे में जाने और परीक्षण कराते रहें।