इन 4 तरीकों से अजवाइन को आजमाएं और बच्चे को दिलाएं सर्दी-खांसी से राहत

इन 4 तरीकों से अजवाइन को आजमाएं और बच्चे को दिलाएं सर्दी-खांसी से राहत

अजवाइन में थाइमॉल, एंटी-इनफ्लेमैटरी, एंटीमाइक्रोबियल और एंटी-फंगल गुण पाए जाते हैं जो जुकाम और बंद नाक से राहत देते हैं।

हम सभी भारतीय माओं को पता है कि अजवाइन प्रेग्नेंसी और डिलीवरी के बाद आपके स्वास्थ्य को अच्छा रखने में अह्म भूमिका निभा सकता है। मैं खुद बेटी के जन्म के बाद 2 महीनों तक अजवाइन का पानी पीती थी।

लेकिन इसके फायदे यहीं खत्म नहीं होते हैं। अजवाइन में थाइमॉल, एंटी-इनफ्लेमैटरी, एंटीमाइक्रोबियल और एंटी-फंगल गुण पाए जाते हैं जो खासकर छोटे बच्चों को जुकाम और बंद नाक से राहत देते हैं।

सर्दी-खांसी से राहत के लिए कैसे करें अजवाइन का इस्तेमाल

यहां आपको हम कुछ तरीके बता रहे हैं जिन्हें आजमाकर आप बच्चे को सर्दी और खांसी से राहत दिला सकती हैं।

1. गुड़ और अजवाइन का मिश्रण

इन 4 तरीकों से अजवाइन को आजमाएं और बच्चे को दिलाएं सर्दी-खांसी से राहत

ये उपचार खांसी से राहत और कफ को निकालने में मदद करता है जिनकी वजह से बच्चों को खासकर रात में अधिक परेशानी होती है।

कैसे करें इस्तेमाल: ओखल लें और सेकें हुए अजवाइन को अच्छे से कूट लें। इसे बराबार मात्रा में गुड़ के साथ मिलाएं और बच्चे को दिन भर में तीन बार दें। ये याद रखें के ये उपचार एक साल से बड़े बच्चों के लिए है।

2. अजवाइन पोटली

ये उपचार वाकई नवजात शिशुओं या एक साल से कम उम्र के बच्चों के लिए काफी फायदेमंद है। मुझे याद है कि बंद नाक और जुकाम में मेरी मां सिका हुआ अजवाइन उसके तकिया के बगल में रख देती है और जादुई अजवाइन से बंद नाक और साइनस में काफी राहत मिलती थी।

आप गर्म पोटली को बेबी की छाती पर रख सकते हैं। ये वाकई बंद ना या गीले कफ में काफी फायदेमंद होता है।

कैसे करें इस्तेमाल: लगभग 2 चम्मच अजवाइन को सूखे तवा या पैन में कुछ देर के अच्छे से सेंक लें।

इसे मुलायम कपड़ा लें और अजवाइन को उसमें डाल दें। इसके बाद अच्छे से एक पोटली बनाएं और बेबी को हल्का-हल्का दबा कर सेंक भी सकती है। इससे बच्चे को बहुत आराम मिलेगा।

3. सरसों तेल में अजवाइन डालकर मसाज

ये तरीका मैंने अपनी मां से सीखा है। वो मुझे थोड़े अजवाइन को सरसों तेल में गर्म करने और इससे बेबी का मसाज करने बोलती थी। इससे मेरी बेटी को खांसी, सर्दी सहित ठंढ की कई बीमारियों से राहत मिल जाती है।

ये उपचार छोटे बच्चों पर भी आजमाया जा सकता है। बस मसाज से पहले ये जरुर चेक कर लें कि बेबी को तेल से एलर्जी ना हो।

कैसे करें इस्तेमाल: एक कप सरसों का तेल अच्छे से गर्म करें और उसमें एक चम्मच अजवाइन मिलाएं। इसे अच्छे से गर्म करें और ठंढा होने के लिए छोड़े दें। बेबी के नहाने से पहले इस तेल से मसाज करें।

4. अजवाइन पानी

आप अजवाइन का फायदा एक और तरीके से उठा सकते हैं और वो तरीका है अजवाइन पानी का।इससे बेबी को सर्दी और खांसी में राहत मिलती है। हालांकि इस उपचार को एक साल से कम उम्र के बच्चों पर ना आजमाएं।

कैसे करें इस्तेमाल: आधे लीटर पानी में एक चम्मच अजवाइन को उबालें और ठंढा होने दें। इस मिश्रण को  बेबी को दिन में 4-5 बार दो-तीन चम्मच पिलाएं जिससे उन्हें कफ में आराम मिलेगा।

Any views or opinions expressed in this article are personal and belong solely to the author; and do not represent those of theAsianparent or its clients.

Written by

theIndusparent