इतनी लंबी, इतनी काली..कौन करेगा तुमसे शादी..सुपरस्टार सोनम कपूर भी सुनने पड़े ऐसे ताने

lead image

यहां तक कि सोनम कपूर को स्टारकिड होने के बावजूद भी नहीं बख्शा गया।वो भी बॉडी शेमिंग जैसे मुद्दों पर ताने सुन चुकी हैं जिससे अक्सर कई लड़कियां दो-चार होती हैं।

सोनम कपूर अपने विचारों को हमेशा से बेबाकी के साथ रखते आई हैं। कई लोगों की उनके बारे में राय हो सकती है कि वो चांदी का चम्मच मुंह में लेकर पैदा हुई हैं और स्टार किड होने के नाते उनके जीवन में कभी कोई मुश्किल नहीं आई होगी। लेकिन सच्चाई ये है कि उन्हें भी नहीं बख्शा गया। वो भी बॉडी शेमिंग जैसे मुद्दों पर ताने सुन चुकी हैं जिससे अक्सर कई लड़कियां दो-चार होती हैं।

Buzzfeed India में लिखे एक कॉलम में सोनम कपूर ने कई बातों पर से परदा उठाया जो अमूमन हमारे सेलिब्रिटी की खूबसूरती की वजह से बाहर नहीं आ पाते हैं। किसी भी टीनएजर की तरह सोनम कपूर ने भी अपनी टीनएज लाइफ बिना कॉन्फिडेंस के गुजारी हैं क्योंकि उन्हें उनकी शारीरिक बनावट की वजह से काफी कुछ सुनना पड़ता था। 

 

A photo posted by sonamkapoor (@sonamkapoor) on

उन्होंने लिखा है कि "किसी भी लड़की की तरह मैंने भी किशोरावस्था में कमरे में आइने के सामने बैठकर सोचती थी कि क्यों मेरा शरीर वैसा नहीं दिख रहा है जैसा दिखना चाहिएमेरा पेट क्यों बाहर निकला हुआ हैक्यों मेरी आखों के नीचे काले गड्ढे हैंक्यों मैं लड़कों से भी अधिक लंबी हूंक्या स्ट्रेच मार्क कभी जाएंगे?" 

उन्होंने ये भी कहा कि रिश्तेदारों  ने उन्हें यहां तक ताने मारे थे कि "इतनी लंबीकालीशादी कौन करेगा?"

सुपरस्टार होना भी नहीं आसान

सोनम कपूर को करियर में बड़ा ब्रेक संजय लीला भंसाली ने सांवरिया में दिया। उस समय भी उन्हें यही चिंता थी कि वो स्क्रीन पर नहीं अच्छी लगेंगी।

सोनम कपूर ने आगे लिखा कि "मुझे बहुत चिंता होती थी कि अगर मुझे बैकलेस चोली पहनने कहा गया तो मेरे पीठ के फैट नजर आएंगे और कोई भी ऐसी हिरोइन को देखने के लिए टिकट नहीं खरीदेगा।

सोनम कपूर अपने करियर के चुनाव की वजह से अपना वजन कम करने लगी और एक बहुत ही गलत डाइट प्लान अपनाने लगीं।

उन्होंने लिखा कि "मैं गलत डाइट भी लेने लेगी, एक बार तो निराशा में मैं डाइट के अनुसार सिर्फ अनानास खाती थी। मैं वर्कआउट क्लास में बहुत अधिक मेहनत करती थी। कई घंटे तक पावर योगा भी करती थी और खाने के साथ मैंने बहुत ही गलत संबध बना लिया ताकि मैं जल्दी से जल्दी कुछ किलो वजन कम कर सकूं। वजन कम करने के चक्कर मे मैं खाना ही नहीं खाती थी।"

सुपरस्टार बनने के बाद भी सोनम कपूर की आत्म घृणा कम नहीं हुई। उन्होंने कहा कि खुद को प्यार करने की जगह उन्हें खुद से नफरत करने का एक नया कारण मिल गया था। 

उन्होंने कहा कि "अपने शरीर से प्यार करने की जगह मुझे नफरत करने के कई कारण मिल गए। मीडिया में मेरे ऊपर कई आर्टिकल्स आए, जिसमें मेरी फोटो पर जूम कर मेरी बाहें, थाइज को लाल गोला लगाकर दिखाया गया। लोग मुझे फ्लेट-चेस्टेड कहते हैं। यहां तक शोभा डे भी आलोचना कर चुकी हैं।" सोनम कहती हैं कि "इन न्यूजपेपर्स को मेरी बॉडी फोकस करके क्रिटिसाइज करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि मैं अपनी गलतियों के बारे में बखूबी जानती हूं। शूटिंग के बाद जब मैं मॉनिटर पर खुद को देखती हूं, तब समझ जाती हूं कि किस सीन के लिए मेरी आलोचना होगी।"

क्या है बदलने की जरुरत

सोनम कपूर ने कहा कि "खूबसूरती का कोई नियम नहीं होता और इसे जीतना भी बहुत मुश्किल है। अनुष्का शर्मा को भी अधिक पतला होने के लिया निशाने पर लिया गया है। कैटरीना कैफ तो हमेशा से फिट रही हैं लेकिन फिर भी उन्हें शर्मिंदा करने में कोई कसर नहीं छोड़ा गया। ये वो महिलाएं हैं जो हमेशा से खूबसूरत रही हैं।" 

हालांकि इसका एक समाधान है और जो लोग बदलाव ला सकते हैं वो कोई और नहीं बल्कि महिलाएं ही हैं। उन्होंने कहा कि इन सालों में उनकी दोस्त नम्रता सोनी और बहन रेहा ने बॉडी शेमिंग से निपटने में उनकी मदद की।

सोनम कपूर ने लिखा है कि "समस्या महिलाओं की सुंदरता के कठोर पैमानों से हैं। इसका समाधान महिलाओं के पास ही है। मुझे इंडस्ट्री में आए एक दशक से अधिक हो चुका है और इसका श्रेय मेरी महिला सर्मथकों को जाता है। मेरा आत्म सम्मान बिल्कुल मेरे साथ है। जिन महिलाओं ने मुझे चैंपियन बनाया और सिखाया कि कैसे सपोर्ट करने से आपकी बहन, दोस्त या सहकर्मी की जिंदगी बदल सकती है।"

सोनम कपूर के ये विचार हर महिला के लिए है कि सभी एक दूसरे की मदद करें और इस तरह से हमारे समाज में बदलाव आ सकता है।

उन्होंने अपने लेख को खत्म करते हुए लिखा कि सोचिए कि अगर आपके दिन की शुरुआत तारीफों के साथ हो तो कितना अच्छा होगा।सोचिए ये कितना आसान है इसलिए जब भी मौका मिलें ऐसा जरूर करें।