आपकी नॉर्मल डिलिवरी होगी या सिज़ेरियन...इन लक्षणों से पता लगाएं

lead image

हम आपको उन लक्षणों के बारे में बताएंगे जो इस बात की ओर संकेत देंगे कि आपकी नॉर्मल डिलिवरी होगी

जब कोई महिला गर्भवती होती है तो उसे पूरे नौ महीने तक डिलिवरी को लेकर अलग अलग डर सताते रहते हैं। अधिकतर महिलाओं को प्रसव के दौरान उठने वाले दर्द को लेकर मन में डर रहता है। खासतौर पर उन महिलाओं को जो पहली पहली बार मां बनने वाली हैं।

बात की जाए डिलिवरी की तो आज के समय नॉर्मल डिलिवरी से ज्यादा महिलाएं सीज़ेरियन डिलिवरी करवा रही हैं। अपनी मर्ज़ी से सिज़ेरियन कराने का कारण है प्रसव के दौरान होने वाला दर्द। तो वहीं कुछ महिलाओं को डॉक्टर ही उनकी शाररिक परिस्थिति देखते हुए सिज़ेरियन करवाने की सलाह देते हैं।

कुछ महिलाओं को शारीरिक कमज़ोरी होती है या फिर अगर बच्चे की पॉज़िशन उलटी हो तो ऐसे केस में डॉक्टर सिज़ेरियन की मदद से महिला की  डिलिवरी करते हैं।

हम आपको उन लक्षणों के बारे में बताएंगे जो इस बात की ओर संकेत देंगे कि आपकी नॉर्मल डिलिवरी होगी

  1. सबसे पहला यह कि आपको डिलिवरी से पहले प्रसव पीड़ा शुरू हो जाएगी जो आठ से 14 घंटे तक चलता है। दूसरा यह कि बच्चे का सिर योनि की तरफ झुक जाता है। कुछ महिलाओं को तो प्रसव पीड़ा डिलिवरी के दो सप्ताह पहले ही शुरू हो जाता है।
  2. इसके बाद पेशाब करने की इच्छा बढ़ते जाना भी नॉर्मल डिलिवरी का एक लक्षण है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि बच्चे का सिर योनि की ओर झुका होता है जिससे ब्लैडर पर दबाव पड़ता है।
  3. आपको पेट में तेज़ दर्द होगा और ऐंठन जा महसूस होगा, जैसा पीरियड्स के दौरान महसूस होता है। जब आपके बच्चे को चारों ओर से घेरा हुआ द्रव्य युक्त अम्नियोटिक सैक जाता है, तो आपके गुप्तांगों से एक द्रव्य निकलने लगता है।

pregnancy 1509744727 e1509744746691 आपकी नॉर्मल डिलिवरी होगी या सिज़ेरियन...इन लक्षणों से पता लगाएं

नॉर्मल डिलिवरी - करें कुछ ऐसा

अगर आप चाहती हैं कि आपकी नॉर्मल डिलिवरी हो तो उसके लिए ज़रूरी है कि आप तनाव से दूर रहें। दिमाग पर ज्यादा बोझ ना डालें। इससे आपके बच्चे पर भी बुरा असर पड़ता है तो वहीं आपके सिज़ेरियन होने

करें एक्सरसाइज़

आप प्रेग्नेंसी के दौरान थोड़ी थोड़ी एक्सरसाइज़ जरूर करें। एक्सरसाइज़ से आपके पेंडू की मासपेशियां मजबूत होंगी जो प्रसव के समय होने वाले दर्द को झेलने में मदद करती है।

नींद पूरी लें

नॉर्मल डिलिवरी के लिए ज़रूरी है कि आप प्रेग्नेंसी के दौरान अच्छी नींद ले रही हों। गर्भवती महिला को करीब 8 से 10 घंटे की नींद लेनी ज़रूरी होती है।

नियमित जांच कराएं

आप प्रेग्नेंसी के दौरान एक अच्छे डॉक्टर से हमेशा संपर्क बनाएं रखें। आप हमेशा अपने डॉक्टर  से अपनी समय समय जांच कराती रहें ताकि बच्चे की और आपकी सेहत के बारे में आपको सब कुछ पता रहे। आपको हर अपडेट अपने डॉक्टर से मिलता रहेगा।