अपने बच्चे के साथ इस तरह मनाएं सुरक्षित और मज़ेदार दीवाली...बस ये टिप्स आज़मा लीजिए

हालांकि अब पटाखों से होने वाली परेशानियों के चलते लोगों में काफी जागरुकता आई है लेकिन बच्चों को पटाखे जलाने का काफी शौंक होता है। ऐसे में आपका मम्मी पापा होने के नाते फर्ज़ बनता है कि एक सुरक्षित और पटाखों रहित दीवाली मनाने के लिए अपने बच्चों को प्रेरित करें।

दीवाली का त्योहार..ऐसा त्योहार जिसे बच्चे से लेकर बड़े-बूढ़े सब खुशी से मनाते हैं। एक ऐसा त्योहार जिस दिन पूरे साल ना मिले हुए दोस्त भी मिल लेते हैं। रिश्तेदार आपस में मिल लेते हैं। कुल मिलाकर दीवाली का त्योहार..यानी खुशियों का त्योहार। लेकिन इस त्योहार में जितनी खुशियां, जितना मज़ा आता है उतनी ही आपको सतर्कता भी बरतनी पड़ती है। कारण हैं पटाखे।

हालांकि अब पटाखों से होने वाली परेशानियों के चलते लोगों में काफी जागरुकता आई है लेकिन बच्चों को पटाखे जलाने का काफी शौंक होता है। ऐसे में आपका मम्मी पापा होने के नाते फर्ज़ बनता है कि एक सुरक्षित और पटाखों रहित दीवाली मनाने के लिए अपने बच्चों को प्रेरित करें।

अब दीवाली ज्यादा दूर नहीं है। तो आज हम आपको बताएंगे कि कैसे आप अपने बच्चे के साथ यह दीपों का त्योहार सुरक्षित और खुशनुमा तरीके से मना पाएंगे…

riteshman / Pixabay

1. अगर आपका बच्चा पटाखे जलाना ही चाहता है तो सबसे पहले इस बात पर ध्यान दें कि आप पटाखे उनसे अपनी निगरानी में और खुली जगह पर ही जलवाएं। 

2. इस बात का भी ख्याल रखें कि जब भी पटाखें जलाएं तो हाथ में कभी ना लें, इससे हाथ जलने का खतरा रहता है।

3. पटाखे जलाते समय कभी भी बहुत ढीले-ढाले कपड़े न पहनें इससे आग पकड़ने का खतरा रहता है। और ध्यान रखें कि पटाखे जलाते समय आप कॉटन के कपड़े पहने।

4. दुर्घटना कब कहां कैसे हो जाएं किसी को पता नहीं रहता। इसलिए आप पटाखे जलाने जाने से पहले एक फर्स्ट एड बॉक्स अपने आस-पास ही रखें ताकि अगर किसी को चोट पहुंचती भी है तो तुरंत दवा आपके सामने हो।

5. पटाखे जलाने से सबसे ज्यादा खतरा आग लगने या हाथ जलने का होता है। तो बेहतर होगा कि आप अपने आस-पास एक बाल्टी में पानी या बालू रखें ताकि अगर कहीं गलती से आग लग जाए तो आप उसे पानी और बालू की मदद से बुझा पाएं।

6. आप एमरजेंसी के लिए एक ऐसे डॉक्टर या अस्पताल का नंबर अपने साथ रखें ताकि अगर अचानक आपको ज़रूरत पड़े तो तुरंत कॉल कर सकें। 

7. जैसा कि आप भी जानते ही होंगे कि पटाखों से निकलने वाला धूआं सेहत के लिए कितना हानिकारक होता है। इसी के चलते तो कई शहरों में पटाखे बैन भी किए गए हैं। लेकिन कुछ शहर हैं जहां पटाखे बैन नहीं है। तो ऐसे में एक ज़िम्मेदार नागरिक और एक ज़िम्मेदार माता पिता होने के चलते आपका फर्ज़ बनता है कि आप अपने बच्चे को पटाखों से होने वाले नुकसान के बारे में बताएं।

8. एक और टिप है जो हम आपके साथ शेयर करेंगे। यह टिप वाकई में आपके बहुत काम आएगा। दरअसल, आपको कोशिश करनी चाहिए कि आप अपने बच्चे का पटाखों से ध्यान हटवाएं। इसके लिए आप उन्हें कई क्रिएटिव कामों में लगा सकते हैं। 

चूंकि दीवाली दीयों और रंगोली का त्योहार है तो आप अपने बच्चे को दीयों को सुंदर सुंदर रंगों से रंगना, घर में सुंदर सी रंगोली बनाना, घर को सजाने जैसे क्रिएटिव कामों में लगाकर उनका पटाखों से ध्यान हटा सकते हैं।

इससे ना सिर्फ आपका बच्चा पटाखों से दूर रहेगा बल्कि कुछ नया भी सीखेगा। 
शुभ दीपावली !