अच्छी सेक्स लाईफ के लिए अपनाएं ये फार्मूले...

अधिकांश महिलाएं या पुरुष आजकल अपने सेक्स लाइफ को बेहतर करने को लेकर काफी सजग हुए हैं लेकिन इस बारे में खुल कर बात नहीं करना चाहते । कई पति-पत्नी अपने रिश्ते में आई बोरियत को कुबूल तो करते हैं लेकिन इसे दोबारा से मज़ेदार बनाने के लिए प्रयास करने से कतराते हैं  ।  

शादी के बाद पार्टनर के साथ आपके अंतरंग संबंधों या सेक्स लाइफ पर ही एक खुशहाल दाम्पत्य जीवन की नींव टिकी होती है। क्योंकि यही वो ख़ास पल है जिसे आप अपने पार्टनर के साथ ही शेयर करते  हैं । लेकिन अब के समय में दोनों के कामकाज़ी होने के कारण एक साथ बैठकर बातें करने का या फिर यूं ही कभी रोमांस करने का मौका कम ही मिल पाता है ।

पति-पत्नी दोनों के व्यस्त दिनचर्या और फुरसत के पलों में नींद पूरी करने की आदत के कारण अधिकांश कपल्स सेक्स को लेकर उत्तेजना नहीं दिखा पाते या बस टाल देते हैं ।

अधिकांश महिलाएं या पुरुष आजकल अपने सेक्स लाइफ को बेहतर करने को लेकर काफी सजग हुए हैं लेकिन इस बारे में खुल कर बात नहीं करना चाहते । कई पति-पत्नी अपने रिश्ते में आई बोरियत को कुबूल तो करते हैं लेकिन इसे दोबारा से मज़ेदार बनाने के लिए प्रयास करने से कतराते हैं  ।  

शायद आपको ख़बर ना हो लेकिन उन अंतरंग पलों को लंबे समय तक ना महसूस करने से आपके व्यवहार और मानसिक स्थिति पर भी प्रतिकूल प्रभाव  पड़ता है।

जैसे पार्टनर से छोटी बात पर भी मनमुटाव होना,  स्ट्रेस लेना, प्रेम को लेकर उत्साह का ख़त्म होना , एक-दूसरे में ख़ामियां निकालना आदि एक असंतुष्ट और असहज रिश्ते में शामिल होने के लक्षण हो सकते हैं ।

दाम्पत्य जीवन में शारीरिक तौर पर उनसे मिली संतुष्टि आपका आत्मविश्वास बढ़ाती है और आपको उमंगों से भर देती है । इसलिए आपकी उम्र चाहे जितनी भी हो, आपको अपने पार्टनर के साथ उनके हिस्से का प्यार ज़रुर बांटना चाहिए ।

हालांकि शारीरिक सुख के अलावा दूसरी सबसे ज़रुरी बात है भावनात्मक सहयोग । जीवन के हर मोड़ पर अगर आपको साथी का संपूर्ण सहयोग मिल रहा हो तो जिन्दगी और भी हसींन हो जाती है ।

तो जानिए सेक्स लाईफ को रोमांचकारी कैसे बनाएं...

  • सबसे पहले आपको इंटिमेट होने के अपने रुटीन या एक निश्चित समय सीमा से निकलना होगा । बदलाव के लिए आप कोई अनकॉमन सा वक्त और स्थान भी चुन सकते हैं ।
  • कभी भी दबाब बना कर संबंध बनाने की कोशिश ना करें क्योंकि अधूरे मन से किया गया प्रयास कभी भी पूर्ण रुप से सफल नहीं हो सकता है ।
  • पार्टनर को अपनी ओर आकर्षित करने की कला आपको आनी चाहिए हलांकि इसकी कोई सटीक थ्योरी नहीं है हर किसी की पसंद अलग होती है।
  • सीधे प्वांइट पर आ जाने की बजाए आप पार्टनर को भरपूर समय दें । एक-दूसरे की बाहों में रहकर धीमे-धीमे बातें करना साथी को सहज करता है ।
  • फोर-प्ले को ही सबसे अधिक समय देना चाहिए क्योंकि ये आपकी उनसे बॉडिंग को मजबूत करेगा ।
  • माहौल बनाने से भी मूड ऑन किया जा सकता है इसलिए बेडरुम की लाईटिंग, सजावट और सुगंध आदि में परिवर्तन लाते रहें ।
  • खुद की साफ-सफाई का ध्यान रखें आपकी ग्रूमिंग साथी को भी इंस्पायर करेगा । इंटरकोर्स के बाद नहाने के कई फायदे होते हैं लेकिन जब आप तरोताज़ा हो कर साथी के करीब आएंगी तो अंजाम हसींन ही होगा ।
  • अंतरंग पलों के दरम्यान साथी को असहज कर देने वाला कोई भी स्टेप ना लें  । इंटरकोर्स के बाद भी पार्टनर को करीब आने या बातचीत करने का मौका देना चाहिए ।