अक्षय कुमार के 14 साल के हैंडसम बेटे आरव से मिलिए

एक्टर-डिजाइनर और लेखिका ट्विंकल खन्ना के बुक के लॉन्च पर सारा अंटेशन उनके 14 साल के बेटे आरव ले गए। वो अपने गुड लुक्स और विनम्र स्वभाव से सबका दिल जीतने में कामयाब रहे।

एक्टर-डिजाइनर और लेखिका ट्विंकल खन्ना जिन्हें मिसेज फनीबोन्स के नाम से भी जाना जाता है, हाल में उनकी द लीजेंड लक्ष्मी प्रसाद लॉन्च हुई है।

ऐसे में जबकि सारा लाइमलाइट उन्हें मिलना चाहिए लेकिन सारा अंटेशन उनके 14 साल के बेटे आरव ले गए। वो अपने गुड लुक्स और विनम्र स्वभाव से सबका दिल जीतने में कामयाब रहे।

जी हां ये सच है..

उनकी बुक के लॉन्च पर बॉलीवुड के कई सेलिब्रिटी पहुंचे जिसमें ट्विंकल खन्ना के बेस्ट फ्रेंड करण जौहर, रणबीर कपूर, शबाना आजमी, आलिया भट्ट, सोनाली बेंद्रे, अनिता श्रॉफ अदजानिया और पति अक्षय कुमार भी थे। दोनों के बीच काफी मजेदार बातें भी हो रही थी। लेकिन हर किसी की नजर सिर्फ आरव पर थी जो बहुत ही अच्छे लग रहे थे।

 

A photo posted by The Quint (@thequint) on

अपनी मम्मी के इस उपलब्धि से आरव भी काफी खुश थे। उन्होंने अपनी नानी डिंपल कपाड़िया के साथ भी काफी पोज दिया जो अपनी बेटी को सपोर्ट करने आई थी।

अक्षय कुमार और उनके जमीन से जुड़े बच्चे

अक्षय कुमार और ट्विंकल खन्ना जो मूल्य अपने बच्चों को दे रहे हैं वो साफ नजर आ रहा है। उन्होंने हाल में ही कहा था कि वो सिर्फ ये नहीं चाहते कि उनके बच्चे अपनी मेहनत से अपना नाम कमाएं बल्कि उनका मानना है कि बच्चों को कुछ भी खैरात में नहीं मिलेगा।इसके लिए उन्हें मेहनत करनी होगी।

 

A photo posted by Akshay kumar (@akshaykumarfb) on Nov 15, 2016 at 3:09pm PST

उन्होंने कहा था कि वो जो भी कमाएंगे इसके लिए उन्हें मेहनत करनी होगी। मैं चाहता हूं कि वो एक जिम्मेदार इंसान बनें। कुछ भी खैरात में नहीं मिलेगा। वो जो भी पाएंगे उसके जिम्मेदार वो होंगे। उन्हें समझना होगा भौतिक सुख सुविधा और लग्जरी लाइफ मेहनत का फल है"।

अक्षय कुमार के बेटे एक अच्छे यंग जेंटलमैन हैं जो हमेशा मुस्कुराते नजर आते हैं।कभी भी मीडिया उन्हें अचानक कैमरे में कैद करने लगे फिर भी कभी भी गुस्से में नहीं दिखते हैं।

ट्विंकल खन्ना की पुस्तक के विमोचन के अवसर पर अक्षय कुमार ने इस बात का ख्याल रखा कि वो हमेशा अपनी पत्नी का हौसला बढ़ाते रहें।

अक्षय मेरा सबसे बड़ी चीयरलीडर है :ट्विंकल खन्ना

इसमें कोई चौकने वाली बात नहीं है जब ट्विंकल खन्ना ने खुलासा किया कि सिर्फ अक्षय ही हैं जिन्होंने उनका लगातार सपोर्ट किया और उन्होंने ये भी बताया कि ट्विंकल के काम से अक्षय खुद ट्विंकल से भी ज्यादा गौरवान्वित होते हैं।

ट्विंकल खन्ना ने कहा कि ये पुस्तक मैं अक्षय को समर्पित करना चाहुंगी। वो मेरा सबसे बड़ा चीयर लीडर है और हमेशा सपोर्ट करता है। वो एक ऐसा शख्स है जिसे मेरे काम पर गर्व है और साथ में मेरी मां जो बाकी माओं की तरह ही हैं। किसी ने इस बीच ये भी डिंपल कपाड़िया से कहा कि आपकी बेटी अच्छी लेखिका हैं..इस पर उन्होंने जोर से कहा दिस जंगली?

 

A photo posted by Akshay Kumar (@akshaykumar) on Nov 3, 2016 at 10:29am PDT

 

काफी मजाकिया लेखिका ट्विंकल खन्ना ने ये भी साफ कहा कि सिर्फ वही नहीं हैं जो समाज के इन अजीब गरीब नियमों पर कटाक्ष करती हैं। एक बार फिर उन्होंने एक जबरदस्त वन लाइनर इस मुद्दे पर बोलीं।

उन्होंने कहा कि मेरी नानी इस बात से हमेशा नाराज रहती थी कि मैं अपने बाल कभी नहीं बनाती थी और मेरी मां हमेशा मुझे डाइट पर रखने की कोशिश करती थी। मैं उनसे बोलती थी कि मैं इस में फिट नहीं आ पा रही हूं और उनसे पूछती भी थी कि मुझे एक ड्रेस में फिट आने की जरूरत क्या है

क्यों महिलाओं को हमेशा नियमों को नहीं मानना चाहिए

दो बच्चों की मां ट्विंकल खन्ना ने साथ ही ये भी कहा कि हम बड़े हो जाते हैं और हमें समाज के बनाए नियमों को मानना पड़ता है ताकि उनके अजीब ढांचे में समा पाए। लेकिन अगर आप अपना रास्ता चुनेंगे तो आप एक ऐसी जगह पहुंचेंगे जहां कोई नहीं पहुंचा होगा। आप कुछ अलग कर सकते हैं जो सिर्फ आप ही कर सकते हैं।

 

A photo posted by #VK (@iamvk_kumar) on Nov 5, 2016 at 10:12am PDT

 

ट्विंकल खन्ना की बातों से ये तो साफ है कि वो काफी खुले विचार की मां हैं जो अपने बच्चों को खुद अपने लिए नियम बनाना सिखाती हैं। हमारे लिए भी ये जरूरी है कि हम अपने बच्चों को कुछ बातें जरूर सिखाएं ताकि वो कॉन्फिडेंट रहें और इज्जतदार बनें।

पांच बातें जो अपने बेटों को जरूर सिखाइए

  • अपना रास्ता खुद चुनें : हमें अपने बेटों को सिखाना चाहिए कि वो अपना स्थान खुद बनाएं ना कि अपनी जिंदगी के फैसले लेने के लिए दूसरों को ढूंढे। इससे उन्हें खुद की क्षमता का अंदाजा मिलता है और वो इतने जिम्मेदार हो जाते हैं कि वो अपने फैसले खुद ले सकें।
  • सब बराबर हैं : हमेशा अपनी बेटी को भी उतना ही प्यार दें जितना आप अपने बेटों को देती हैं। अगर हम अपने बेटों को ये सिखाएंगे कि हमारी बेटियां भी किसी से कम नहीं हैं तभी हम एक अच्छा और मजबूत समाज बना पाएंगे लेकिन ये भी उतना ही जरूरी है कि हम अपनी बेटियों को भी बताएं कि वो किसी से कम नहीं है।
  • अपने लक्ष्य पर मेहनत करो और बिना गलत रास्ते के हासिल करो : आपको अपने बेटों को जरूर सिखाना चाहिए कि वो लक्ष्य को पाने के लिए कडी मेहनत करें लेकिन गलत रास्ता नहीं अपनाएं या किसी को बेवकूफ ना बनाएं, बल्कि जीतने का एटिट्युड रखें और आगे बढ़ें।
  • नहीं बोलना सीखें : किसी को हां बोलना बहुत आसान है लेकिन नहीं बोलने के लिए हिम्मत चाहिए। हमें बेटों को गलत चीज के खिलाफ स्टैंड लेना सिखाना चाहिए।
  • महिलाओं की इज्जत : हालांकि आप उन्हें अगर समानता के बारे में सिखाएंगे तो महिलाओं की इज्जत करना वो खुद सीख जाएंगे लेकिन इसे बार बार दोहराने में कोई बुराई नहीं है। अपने बेटों को महिलाओं को इज्जत करना सिखाइये और इसकी शुरूआत हमेशा घर में परफेक्ट उदाहरण देकर ही होगी।

इस आर्टिकल के बारे में अपने सुझाव और विचार कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करें | 

Source: theindusparent